आज कितना बदल गया है इंसान...?

गणतंत्र को बचाना है तो भ्रष्ट मंत्रियों को जनयुद्ध के जरिये सरे आम फांसी देनी होगी......

गुरुवार, 29 जुलाई 2010

सभी ब्लोगरों से आग्रह आप अपने ब्लॉग का एक पोस्ट ऐसे सच्चे और इमानदार गणतंत्र के रक्षक को जरूर समर्पित कीजिये ,तब जाकर कुछ बदलाव आएगा ...

आज जहाँ ज्यादातर विधायक स्वार्थवश देश समाज को लूटने के लिए भ्रष्टाचार और अपने अधिकार का दुरुपयोग कर इस देश और समाज को नरक बनाने पर तुले हुए है ऐसे में श्री सुखराम कोली जैसे सच्चे और बेहद इमानदार विधायकों का होना आशा क़ी एक किरण के रूप में सभी अच्छे,सच्चे,इमानदार व देशभक्त भारतीय नागरिकों के प्रेरणा स्त्रोत का काम कर रहें हैं | ऐसे नेक इंसान को हमारा हार्दिक नमन |

इस महान गणतंत्र"भारत"के राजस्थान राज्य के धौलपुर के बसेड़ी के विधायक सुखराम कोली शिक्षक बनकर स्कूल में पढ़ाना चाहते हैं | महत्वपूर्ण बात यह नहीं क़ी वह बिधायक का पद त्यागकर शिक्षक बनना चाहते हैं |

महत्वपूर्ण बात यह है क़ी श्री सुखराम कोली बेहद इमानदार और सच्चे इंसान हैं और उसका सबूत है -सुखराम कोली के घर के बेडरूम में कूलर तक नहीं है। मनोरंजन के लिए एक छोटा सा ब्लैक एंड व्हाइट टीवी है। विधायक को आवास के रिनोवेशन के लिए लाखों रुपए मिलते हैं लेकिन सुखराम ने एक पाई भी खर्च नहीं क़ी मात्र आधा बीघा जमीन के मालिक सुखराम कोली का विचार है  कि एक शिक्षक बन जाने के बाद यदि मैं 100 लोगों को शिक्षित कर पाऊँ, तो मेरी सबसे बड़ी सफलता होगी। विधायक रहते हुए मैं किसी का भला नहीं कर सकता। यह मेरा विश्वास है।

श्री सुखराम कोली जी को उनके ऐसे विचारों के लिए ब्लॉग पर सबसे पहले नारायण बारेठ  बीबीसी संवाददाता, जयपुर ने अपने ब्लॉग पोस्ट 

पर लिखकर सम्मानित किया था ,उसके बाद राज भाटिया जी ने
पर लिखकर उनको सम्मान देने क़ी कोशिस क़ी और उसके बाद महेश परिमल जी ने
नारायण बारेठ जी

राज भाटिया जी

महेश परिमल जी

इस पोस्ट पर उनके बारे में लिखकर उनको सम्मानित किया | हम इन तीनो व्यक्ति को इनके समाज व देश हित में सोचने वाले एक इमानदार इंसान के बारे में अपने ब्लॉग के जरिये लिखकर सम्मान देने के लिए इनका हार्दिक धन्यवाद करते हैं और उन सभी का आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने अपनी प्रतिक्रियाओं या विचारों से इस नेक इंसान के सम्मान को बढाने के प्रयास को मजबूती दी | हमारा आग्रह है सभी ब्लोगरों से क़ी श्री सुखराम कोली जैसे बेहद इमानदार व नेक इंसान को सम्मान देते हुए अपने ब्लॉग का एक पोस्ट जरूर समर्पित करें | आप ऐसा कर अपने देश व समाज को आगे बढाने के ईमानदारी भरे प्रयास को भी मजबूती प्रदान करेंगे |
 

6 टिप्‍पणियां:

  1. sach me aapne ek bahut achchhi koshish ki hai......dhanywad!!

    shri sukhram koli jee ko naman!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. अब ऐसे प्रकरण बिरले ही सामने आते हैं। राजनीति में तो बिल्कुल नहीं। कोली जी को सलाम।

    उत्तर देंहटाएं
  3. राजनीति में अब भी ऐसे ईमानदार व्यक्ति हैं - सहसा विश्वास नहीं होता |

    उत्तर देंहटाएं
  4. Jai Kumar ji...Mujhe to visvaas hi nahin ho raha.
    Apke is prayaas se mujhe Sukhram ji ke baare men padhne ko mila...

    Main bhi koli ji ko shubhkaamnaayen deta ki vo jo chaahte han use pura kar saken.

    उत्तर देंहटाएं
  5. प्रेरक ही नहीं,आज के माहौल में एक दुर्लभ व्यक्तित्व।

    उत्तर देंहटाएं